जरूरतमंदों की सेवा में अपना जीवन खपाएं स्वयंसेवक- डॉ. भागवत
   Date09-Jun-2019
सहारनपुर द्य 8 जून (वा)
राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत ने स्वयंसेवकों को राष्ट्र भक्ति का पाठ पढ़ाते हुए कहा कि अनुशासन, नैतिकता एवं देश भक्ति की भावना के साथ काम करें और जरूरतमंदों की सेवा करने में कभी पीछे ना रहें।
सिल्वर बेल्स स्कूल, शामली में आयोजित संघ के 20 दिवसीय प्रशिक्षण शिविर के बौद्धिक सत्र को संबोधित करते हुए श्री भागवत ने कहा कि प्रशिक्षण के बाद उनकी जिम्मेदारी और भी बढ़ जाएगी। वह यहां जो सीखेंगे उसे अपने जीवन में भी उतारेंगे। यहां की शिक्षा अमूल्य है। उन्होंने स्वयंसेवकों से शाखा में भी जाने के लिए कहा। शाखा का महत्व बताते हुए कहा कि वहां अनुशासन, नैतिकता और देश भक्ति का पाठ मिलता है। उन्होंने स्वयंसेवकों से यह भी कहा कि वे सेवा भाव से कार्य करें और जरूरतमदों की सेवा करने से कभी भी पीछे ना रहें। उन्होंने कहा कि सीखने की कोई उम्र नहीं होती। हमें हमेशा सीखने के प्रति जिज्ञासु रहना चाहिए। श्री भागवत शनिवार दोपहर शामली से अपने अगले कार्यक्रम के लिए प्रस्थान कर गए। सत्र के दौरान उन्होंने स्वयंसेवकों द्वारा पूछे गए प्रश्नों का उत्तर दिया।