गर्मी ने भोपाल में २४, इन्दौर में १६ साल का रिकार्ड तोड़ा
   Date08-Jun-2019
भोपाल द्य 7 जून (वा)।
राजस्थान, उत्तरप्रदेश और विदर्भ से लगातार आ रही भीषण गर्म हवाओं के कारण गर्मी से उबल रही मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में आज 24 साल का रिकार्ड तोड़ते हुए तापमान 45.9 डिग्री पर पहुंच गया। यह इस सीजन का भी अब तक का सर्वाधिक तापमान है। उधर इन्दौर में गर्मी १६ साल का रिकार्ड तोड़ते हुए ४४ डिग्री पर पहुंच गई। ७ जून २००३ में इन्दौर में पारा ४४ पर था।
स्थानीय मौसम विज्ञान केन्द्र के वरिष्ठ वैज्ञानिक एस के डे ने बताया कि इससे पूर्व जून माह में 5 जून 1995 को भोपाल में 45.6 तापमान रिकार्ड किया गया था। इतना ही तापमान इससे पहले 10 जून 1979 को भी यहां दर्ज हुआ था। भोपाल में आज रिकार्ड किया गया 45.9 डिग्री सेल्सियस तापमान सामान्य से 5.8 डिग्री ज्यादा है। रात का भी सामान्य से सात डिग्री अधिक 32. 5 दर्ज हुआ है। प्रदेश में सबसे अधिक तापमान 47. 2 डिग्री होशंगाबाद में अंकित हुआ है।
इसके साथ ही खजूराहो में 46.4, खरगोन 46. 2, बुरहानपुर 46.1 तथा नेपानगर और रायसेन में 46 रहा। यह शहर भीषण लू की चपेट में आए हुए हैं। इसके अलावा राजगढ़ में 45.8, नौगांव 45.2, ग्वालियर 45.1, शाजापुर, छिंदवाड़ा और दमोह में 45, गुना 44.8, बैतूल और उमरिया 44.7, मंडला 44.6, खंडवा 44.5, जबलपुर 44.3, सागर और धार में 44.2, इंदौर एवं शिवपुरी में 44, टीकमगढ़ 43.8, सीधी 43.6 और रीवा 43.2 डिग्री तापमान रहा। मध्यप्रदेश में लू से अभी तक चार लोगों की मौत हो चुकी है, जिसमें दो की श्योपुर जिले में तथा एक-एक की ग्वालियर और जबलपुर में मृत्यु हुई है। श्री डे ने बताया कि अगले दो दिन तक प्रदेश में मौसम का हाल ऐसा ही बना रह सकता है। तापमान कहीं एक डिग्री कम और कहीं एक डिग्री ज्यादा रह सकता है।
इंदौर में गर्मी ने 16 साल का रिकार्ड तोड़ा - भीषण गर्मी से सामना कर रहे इंदौरवासियों के लिए मानो अग्रि परीक्षा का दौर चल रहा है। मौसम केंद्र ने शुक्रवार को अधिकतम तापमान 44 डिसे. दर्ज किया है, जो कि 16 साल पहले इसी दिन सन् 2003 में था। मध्यप्रदेश सहित पूरे मालवांचल में इन दिनों गर्मी के कहर से जन जीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। लोगों को सुबह और शाम भी सुकून नहीं मिल रहा है। 20 किमी प्रति घंटे की गति से हवा चलने के बावजूद तापमान में गिरावट की बजाय उछाल आ रहा है। अंदाज इसी से लगाया जा सकता है कि न्यूनतम तापमान 28 डिसे. के करीब दर्ज किया गया। इससे जहां दिन में लोग तपन से परेशान है वहीं आधी रात के बाद भी गर्मी के कारण विश्राम नहीं कर पा रहे हैं। कूलर और पंखे की हवा भी बेअसर साबित हो रही है।