देश को पुराने दौर में ले जाने को तैयार नहीं हैं लोग- मोदी
   Date26-Jun-2019
नई दिल्ली 26 जून (वा)
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने विपक्ष को आड़े हाथों लेते हुए आज कहा कि जनता देश को पुराने दौर में ले जाने के लिए तैयार नहीं है बल्कि वह नए भारत के सपने को पूरा करने के लिए लालायित है इसलिए सभी को मिलकर गांधी के मॉडल को आगे बढ़ाते हुए नई पीढ़ी की अपेक्षाओं को पूरा करने के लिए राष्ट्र निर्माण में जुटने की जरूरत है।
श्री मोदी ने राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर राज्यसभा में करीब 12 घंटे चली चर्चा का बुधवार को जवाब देते हुए सदन में विपक्ष द्वारा सरकारी कामकाज में बार-बार अड़ंगा लगाने के बजाय सकारात्मक और रचनात्मक सहयोगी की अपील की। विपक्ष पर तंज कसते हुए उन्होंने पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी का हवाला देते हुए कहा कि लोकतंत्र में विपक्ष को विरोध का अधिकार है लेकिन अड़ंगा लगाने का अधिकार किसी को नहीं है। उन्होंने कहा कि देश को 50 खरब डालर की अर्थव्यवस्था बनाने के लिए सभी को मिलकर कर्तव्य भाव और जिम्मेदारी का निर्वहन करना होगा। प्रधानमंत्री के जवाब के बाद सदन ने विपक्षी सदस्यों के सभी संशोधनों को खारिज करते हुए धन्यवाद प्रस्ताव को ध्वनिमत से पारित कर दिया। लोकसभा ने मंगलवार को इस प्रस्ताव को पारित किया था। इस तरह प्रस्ताव को संसद की मंजूरी मिल गई। श्री मोदी ने सदन में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद के धन्यवाद 
प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान 'पुराना भारतÓ लौटाने की मांग पर कटाक्ष करते हुए कहा कि क्या उन्हें वहीं पुराना भारत चाहिए जिममें मंत्रिमंडल के फैसले का फाड़ दिया जाता था, सैर सपाटे के लिए नौसेना का इस्तेमाल किया जाता था, जल , थल और नभ में घोटाला होता था, जो टुकड़े-टुकडे गैंग के समर्थन में पहुंच जाता था।