तेलों में ध्यान मंदी का रहने के बावजूद सोया तेल में सुधार
   Date26-Jun-2019

इन्दौर ठ्ठ व्यापार प्रतिनिधि
खाद्य तेलों में नरमी का वातावरण है। हालांकि मूंगफली तेल में तेजी है, तो कपास्या तेल में उपलब्धि काफी कमजोर होने से तेजी का रूख है, परंतु अब अधिकांश क्षेत्रों में मानसून सक्रिय होते नजर आ रहा है। मालवा-निमाड़ सहित महाराष्ट्र में मानसूनी बरसात होने से सोयाबीन व सोया तेल में मंदी बन रही है। क्योंकि इन इलाकों में सोयाबीन की बोवनी चल रही है जो आगामी 10-15 दिनों में पूरी हो जाने की संभावना है। वही रुपए की मजबूती से पाम तेल सहित आयातित तेलों का आयात सस्ता हो जाने से इनमें गिरावट आ रही है। जिससे सोया तेल पर असर पड़ रहा है। पोर्ट पर भी हाजर तेल में लेवाली घटी है। अब आचारी सीजन में सरसों तेल की मांग रहेगी। लेकिन फिर भी बाजार में सुधार रहा, क्योंकि वायदा में तेजी रही। लेवाल भी रहे। जबकि मलेशिया पाम तेल 497.50 डालर रहा। फारवर्ड में दो माह का क्रमश: 500 एवं 515 डालर रहा। के.एल.सी. 15 रिगिंट माइनस रही। शिकागो सोया वायदा 35 सेंट माइनस रहा। जबकि यहां एनसीडीईएक्स में रनिंग में सोया तेल जुलाई का 742 रु. 25 पैसे, अगस्त का 732 रु. 50 पैसे चल रहा था। जबकि सीड जुलाई की 3687, अगस्त की 3640 तथा सरसों जुलाई 3944 रु. रही। जिससे हाजर तेल में सुधार रहा। कामकाज के दौरान सींगदाना तेल इंदौर 1110 से 1130, मुंबई तेल 1100, राजकोट तैलिया 1740, गुजरात लूज 1125, सोया रिफाइंड इंदौर 752 से 754, सोया साल्वेंट 715 से 720, गुजरात काटन वाश्ड 730, मुंबई काटन तेल 768, मुंबई सोया रिफाइंड 740, मुंबई सोया डीगम 700 से 705, रेपसीड तेल 785, मुंबई पाम तेल 578, इंदौर पाम तेल 630 से 632 रु.।