योग से दुनिया को निरोग बनाने में जुटे लोगों पर गर्व - मोदी
   Date22-Jun-2019
 

श्री मोदी ने शनिवार को ट्वीट किया और योग को बढावा देने तथा इसके प्रचार में अहम भूमिका निभाने वाले लोगों को वर्ष 2019 के योग पुरसकार से नवाजे जाने के लिए बधाई दी। धरती पर ज्यादा से ज्यादा लोगों को योग करने तथा इसके माध्यम से उनके निरोगी होने को सुनिश्चितरूप करने में अमूल्य योगदान देने के वास्ते सम्मानित व्यक्तियों तथा संस्थानों पर हमें गर्व है। योग को बढावा देने में महत्वपूर्ण योगदान देने के लिए गुजरात के स्वामी राजर्षी मुनि, इटली के अंटोनितो रोजी, बिहार स्कूल ऑफ योग तथा जापान योग निकेतन को यह सम्मान दिया गया है। गुजरात में लिम्बडी के स्वामी रजर्षी मुनि ने योग के प्रचार तथा प्रसार के क्षेत्र में उल्लेखनीय काम किया है। इस क्षेत्र में किए गए उनके महतवपूर्ण कार्यों में लाइफ मिशन का गठन तथा इसको लकुलिस योग विश्वविद्यालय से जोडकर छात्रों को योग की जानकारी देना है। सामाजिक क्षेत्र में भी उनका कार्य विशेष उल्लेखनीय है।
इटली के अंटोनिता रोजी करीब चार दशक से योग का अभ्यास कर रहेी हैं। उन्होंने सर्व योग इंटरनेशनल का गठन किया तथा यूरोप में योग को लोकप्रिया बनाया है। श्री मोदी ने कहा कि इस तरह से निजी स्तर पर योग के लिए काम करने वाले लोगों को देखकर गौरव होता है।
बिहार स्कूल ऑफ योग का गठन श्री स्वामी सत्यानंद सरस्वती ने किया था और यह संस्थान पांच दशक से ज्यादा समय से योग के क्षेत्र में काम कर रहा है। इस स्कूल के योग से संबंधित साहित्य और कार्यक्रम बहुत प्रसिद्ध हैं। जापान योग निकेतन का गठन 1980 में हुआ और यह संस्थान तब से जापान में योग को लोकप्रिय बनाया है। जापान इस संस्थान के कई प्रशिक्षण केंद्र हैं जिनमें तरह तरह के पाठ्यक्रम चल रहे हैं।