आज और कल सूर्य की किरणें लम्बवत होने से शून्य हो जाएगी परछाई
   Date20-Jun-2019

उज्जैन द्य स्वदेश समाचार
पृथ्वी के सूर्य के चारों ओर परिभ्रमण के कारण सूर्य 21 एवं 22 जून को उत्तरी गोलाद्र्ध में कर्क रेखा पर लम्बवत होता है। कर्क रेखा की स्थिति 23 डिग्री 26 मिनट उत्तरी अक्षांश पर है। 21 जून को सूर्य की क्रांति 23 डिग्री 26 मिनट 3 सेकेण्ड उत्तर एवं 22 जून को सूर्य की क्रांति 23 डिग्री 26 मिनट 7 सेकेण्ड उत्तर होगी। इस प्रकार इस वर्ष सूर्य की चरम स्थिति 22 जून को रहेगी। उज्जैन कर्क रेखा के नजदीक स्थित है, इसलिए 21 एवं 22 जून को दोपहर 12 बजकर 28 मिनट पर सूर्य की किरणें लम्बवत होने के कारण यहां परछाई शून्य हो जाएगी। इस खगोलीय घटना को शासकीय जीवाजी वेधशाला स्थित शंकु यंत्र पर दोनों दिन देखा जा सकेगा। दोपहर 12.28 बजे पर शंकु की परछाई इस यंत्र पर नहीं दिखेगी।
दिन होंगे धीरे-धीरे छोटे - वेधशाला अधीक्षक डॉ. राजेन्द्र प्रकाश गुप्त के अनुसार 21 जून को सूर्य अपने अधिकतम उत्तरी बिन्दु कर्क रेखा पर होने के कारण उत्तरी गोलाद्र्ध में दिन सबसे बड़ा तथा रात्रि सबसे छोटी होती है। 21 जून के बाद दिन धीरे-धीरे छोटे होने लगेंगे और 23 सितम्बर को दिन-रात बराबर होंगे।