नंदा देवी अभियान पर गए आठ विदेशी पर्वतारोहियों का दल लापता
   Date02-Jun-2019
नैनीताल ठ्ठ 1 जून (वा)
हिमालय की पर्वत श्रृंखला नंदा देवी के अभियान पर गए विदेशी पर्वतारोहियों का एक दल लापता हो गया है। इस दल का पिछले छह दिन से कोई अता-पता नहीं है। पर्वतारोहियों के इस दल को ढूंढने के लिए शासन एवं प्रशासन ने अभियान तेज कर दिया है। सरकार की ओर से पर्वतारोहियों को ढूंढने के लिए हेलिकॉप्टर का भी सहारा लिया जा रहा है।
सीमांत पिथौरागढ़ के जिलाधिकारी डॉ. विजय कुमार जोगदंडे ने शनिवार को बताया कि विदेशी पर्वतारोहियों का यह दल पिछले 25 मई से लापता है। इस दल में 12 सदस्य थे, जिनमें से चार वापस लौट आए हैं और शेष आठ का कोई अता-पता नहीं है। दल में सात पर्वतारोही विदेशी हैं और एक भारतीय है। यह दल 10 मई को नंदा देवी पर्वतारोहण के लिए निकला था। दल को 25 मई को नंदा देवी चोटी के अभियान को पूरा कर वापस अपने आधार शिविर में लौटना था।
इस घटना की जानकारी मिलते ही पिथौरागढ़ जिला प्रशासन तुरंत ही हरकत में आ गया। जिला प्रशासन की ओर से मुनस्यारी से भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी) के एक दल को तुरंत मौके के लिए रवाना कर दिया गया। इसमें 10 सदस्य शामिल हैं।
इसके अलावा राज्य आपदा प्रबंधन की एक टीम को भी आवश्यक उपकरणों के साथ मौके के लिये रवाना किया गया है। इस दल में दो चिकित्सकों एवं मेडिकल विभाग के अन्य सहायक कर्मियों को भी शामिल किया गया है।
जिलाधिकारी ने बताया कि पर्वतारोहियों को खोजने के लिये हवाई अभियान भी चलाया जा रहा है। सरकार की ओर से पर्वतारोहियों को खोजने के लिये एक हेलीकाप्टर उपलब्ध कराया गया है। हेलीकाप्टर ने आज देहरादून से उच्च हिमालयी क्षेत्र के लिये उ?ान भरी लेकिन मिलम एवं मुनस्यारी क्षेत्र में मौसम खराब होने से हेलीकाप्टर को वापस लौटना प?ा। मौसम ठीक होने पर हेलीकाप्टर फिर मौके के लिये रवाना होगा।
डॉ. जोगदंडे ने यह भी बताया कि ग?वाल के चमोली एवं रूद्रप्रयाग जनपद की ओर से भी बचाव अभियान चलाया जायेगा। चमोली जनपद से भी एक टीम मौके के लिये रवाना की जा रही है। दोनों ओर से बचाव अभियान चलाया जायेगा। इसके अलावा रूद्रप्रयाग के शीर्ष से भी हेलीकाप्टर से जल्द ही तलाश अभियान संचालित किया जायेगा। उन्होंने बताया कि इस अभियान को नई दिल्ली की हिमालयन रन एंड ट्रेक प्राइवेट लिमिटे कंपनी की ओर से संचालित किया जा रहा था। कंपनी की ओर से कल 31 मई की शाम को पर्वतारोहियों के लापता होने की जानकारी दी गयी। लापता पर्वतारोहियों के इस दल में अमेरिका, ब्रिटेन एवं आस्ट्रेलिया के अलावा एक भारतीय पर्वतारोही भी शामिल है।
लापता पर्वतारोहियों के दल का नेतृत्व ब्रिटेन के मार्टिन मोरन कर रहे थे। दल में अन्य सदस्यों में जॉन मैकलारेन (ब्रिटेन), रूपर्ट वेवेल (ब्रिटेन), रिचर्ड प्याने (ब्रिटेन), रथ मैक्केन (आस्ट्रेलिया), एंथोनी सुडेकुम (अमेरिका), रॉनाल्ड बेमेल (अमेरिका) और चेतन पांडे (भारतीय) शामिल हैं।