माल्या को झटका, डिआजियो कंपनी को चुकाने होंगे 945 करोड़ रुपये
   Date25-May-2019
लंदन
शराब कारोबारी विजय माल्या को एक और तगड़ा झटका लगा है। यूके हाई कोर्ट ने आदेश दिया है कि माल्या को डिआजियो कंपनी को 13.5 करोड़ डॉलर यानी करीब 945 करोड़ रुपये चुकाने होंगे। डिआजियो ने 63 साल के कारोबारी माल्या पर 17.5 करोड़ डॉलर का दावा किया था। माल्या के वकील ने कोर्ट में कहा कि कंपनी से डील करते वक्त डिआजियो ने मौखिक रूप से कहा गया था कि वह इतनी जल्दी कोई दावा नहीं करेगी। कोर्ट ने माल्या की बात को खारिज करते हुए कहा कि ब्याज सहित डिआजियो के पैसे लौटाने होंगे। डिआजियो यूके की एक पेय कंपनी है।
डिआजियो के प्रवक्ता डॉमिनिक रेडफर्न ने कहा, 'हमें खुशी है कि हमारी जीत हुई।' दरअसल मामला माल्या की दो कंपनियों के अधिग्रहण का है। डिआजियो ने विजय माल्या की कंपनियों की हिस्सेदारी खरीदने के लिए पैसे चुकाए थे। लेकिन उन्हें शेयर में हिस्सेदारी तक नहीं मिली। इससे उन्हें काफी नुकसान भी हुआ। कंपनी ने विजय माल्या को सीधे चार करोड़ डॉलर का भी भुगतान किया था। इसके संबंध में भी अभी केस चल रहा है। विजय माल्या की ये दोनों कंपनियां उनके बेटे सिद्धार्थ चलाते हैं। तीन साल पहले उनके और डिआजियो के बीच डील हुई थी।

रेडफर्न ने कहा, 'हम चाहते हैं कि विजय माल्या 17.5 करोड़ डॉलर का भुगतान करें। यह पैसा विजय माल्या की कंपनियों ने ठगा है। हम इस बात के लिए प्रतिबद्ध हैं कि चुकाई गई पूरी धनराशि ब्याज के साथ वापस ली जाएगी।' माल्या की इन दोनों कंपनियों का नाम यूएसएल और सीएएसएल है। इस मामले में तीन कंपनियां पीएलसी, डिआजियो होल्डिंग्स नीदललैंड्स और डिआजियो फाइनैंस पीएलसी दावेदार हैं। माल्या की वॉटसन और सीएएसएल ने इससे पहले आईसीआईसीआई बैंक से कर्ज लिया था। इसके बाद ही डिआजियो ने चार्टर्ड बैंक से रीफाइनैंस करवाने के लिए माल्या की कंपनी से हाथ मिलाया था। सुनवाई के दौरान माल्या कोर्ट में मौजूद नहीं थे।