महात्मा बुद्ध की सीख
   Date24-May-2019
प्रेरणादीप
गौतम बुद्ध ने सिखाया अपने-अपने लिए प्रयास करना यह अपना कार्य नहीं है, क्योंकि मुक्ति प्राप्त करनी हो तो संपूर्ण मानवता को मुक्ति के मार्ग पर ले जाना होगा और इसके लिए उन्होंने अनेक विधि कार्य बताए। समाज के अंदर ऐसा कोई भी काम जिससे हिंसा होती है, जिससे व्यक्ति कर्मकांडों के बंधन में बंधता है, व्यक्ति को उससे मुक्त करने का मार्ग उन्होंने दिखाया। उन्होंने कहा जीव-हिंसा नहीं चाहिए। अपने सुख के लिए हम दूसरों को कष्ट देते हैं। यह जीवन-प्रक्रिया है, इस कर्म के कारण फिर अगर हम दूसरे को दु:ख देंगे, तो दु:ख देने का अर्थ दु:ख होता है। यह कर्म का सिद्धांत है, हम सब लोग जानते हैं। उन्होंने यह नहीं कहा कि मेरे लिए यह बात नहीं है। अपनी शिक्षा को उन्होंने यहां की सनातन परंपरा में माना और प्रत्येक शिक्षा के बाद बुद्ध कहते हैं यह सनातन धर्म है।