जेट एयरवेज का संकट गहराया, आज से उड़ान नहीं भरेंगे पायलट
   Date14-Apr-2019

नई दिल्ली 14 अप्रैल (वा) वित्तीय संकट में फंसी विमान सेवा कंपनी जेट एयरवेज का संकट कम होता नजर नहीं आ रहा। उसके पायलटों के एक संगठन नेशनल एविएटर्स गिल्ड (एनएजी) ने फैसला किया है कि वे सोमवार सुबह 10 बजे से विमान नहीं उड़ाएंगे।
निजी एयरलाइंस के 1,600 पायलटों में 1,100 एनएजी के सदस्य हैं। संगठन के एक सूत्र ने बताया कि उन्होंने सोमवार सुबह 10 बजे से उड़ान नहीं भरने का फैसला किया है। इंजीनियरों तथा प्रबंधन के वरिष्ठ सदस्यों के साथ पायलटों को भी जनवरी से वेतन नहीं मिला है। अन्य कर्मचारियों को पहले आंशिक वेतन का भुगतान किया जा रहा था, लेकिन उनका भी मार्च का वेतन अब तक नहीं मिला है। कंपनी ने आश्वासन दिया है कि ऋ णदाता बैंकों के कंसोर्टियम द्वारा शुरू की गई समाधान प्रक्रिया के तहत जैसे ही नकदी आती है कर्मचारियों के वेतन का भुगतान उसकी प्राथमिकता होगी। भारतीय स्टेट बैंक के नेतृत्व वाले कंसोर्टियम ने 1,500 करोड़ रुपए की नकदी देने का आश्वासन दिया है। कंसोर्टियम ने एयरलाइंस की 75 प्रतिशत तक हिस्सेदारी बेचने के लिए बोली प्रक्रिया भी शुरू कर दी है। प्रथम चरण में अभिरूचि पत्र जमा कराने की अंतिम तिथि समाप्त हो चुकी है। योग्य बोली लगाने वालों के लिए वित्तीय निविदा जमा कराने की आखिरी तारीख 30 अप्रैल रखी गई है। कुछ ही महीने पहले 120 विमानों का परिचालन करने वाली कंपनी के विमानों की संख्या नकदी की किल्लत के कारण 15 से भी कम रह गई है। किराया नहीं चुकाने के कारण विमान पट्टे पर देने वाली कंपनियों ने बड़ी संख्या में उसके विमान ग्राउंड कर दिए हैं। उसने सोमवार तक के लिए अपनी सभी अंतर्राष्ट्रीय उड़ानें रद्द करने की घोषणा की है।