पद्म पुरस्कार 2019: कुलदीप नैयर (मरणोपरांत), शंकर महादेवन, सहित 56 सम्मानित
   Date11-Mar-2019
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने इस वर्ष के पद्म पुरस्कारों के लिए चुने गए 112 प्रेरक हस्तियों में से 56 को सोमवार को राष्ट्रपति भवन में आयोजित एक विशेष कार्यक्रम में सम्मान प्रदान किया। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने सोमवार को दिवंगत पत्रकार कुलदीप नैयर को पद्म भूषण सम्मान से सम्मानित किया।

 
उनकी पत्नी भारती नायर ने यह पुरस्कार लिया। इसके अलावा कबड्डी टीम के कप्तान अजय ठाकुर को पद्म श्री सम्मान दिया गया। वहीं, बजरंग पूनिया को भी पद्म श्री सम्मान दिया गया। जानेमाने म्यूजिक डायरेक्टर और गायक शंकर महादेवन को पद्म श्री सम्मान से सम्मानित किया गया। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने निदेशक प्रभु देवा को पद्म श्री से सम्मानित किया गया।
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद राष्ट्रपति भवन में आयोजित एक विशेष कार्यक्रम में इस साल पद्म पुरस्कारों के लिए चुने गए 112 शख्सियतों में से 56 लोगों को प्रतिष्ठित पुरस्कार प्रदान की। वहीं बाकी बचे हुए लोगों को यह पुरस्कार राष्ट्रपति 16 मार्च को प्रदान करेंगे। राष्ट्रपति ने पूर्व विदेश सचिव एस जयशंकर, डांसर प्रभुदेवा से लेकर रेस्लर बजरंग पूनिया तक को पद्म पुरस्कार से सम्मानित किया। राष्ट्रपति ने दक्षिण भारत के सुपरस्टार मोहनलाल को पद्म भूषण सम्मान से सम्मानित किया। सरदार सुखदेव सिंह ढींगरा और हुकुमदेव नारायण यादव को पद्म भूषण से सम्मानित किया गया।
कला और नृत्य के क्षेत्र में महत्वपूर्ण योगदान देने के लिए निर्देशक और अभिनेता प्रभुदेवा को पद्मश्री सम्मान से सम्मानित किया गया। पूर्व विदेश सचिव सुब्रमण्यम जयशंकर को राष्ट्रपति ने पद्मश्री से सम्मानित किया। टेबल टेनिस खिलाड़ी शरथ कमल और ग्रांडमास्टर हरिका द्रोणावल्ली को पद्मश्री सम्मान से सम्मानित किया गया। गायक और संगीत निर्देशक शंकर महादेवन को राष्ट्रपति कोविंद ने पद्मश्री सम्मान दिया। रेस्लिंग के क्षेत्र में योगदान देने के लिए बजरंग पूनिया को पद्मश्री से सम्मानित किया गया।
भारतीय तालवादक आनंद शिवमणि को राष्ट्रपति ने पद्मश्री से सम्मानित किया। पद्म भूषण मिलने के बाद अभिनेता मोहनलाल ने कहा, ‘यह बहुत बड़ा सम्मान है। एक व्यक्ति के रूप में, एक अभिनेता के रूप में यह बहुत बड़ी उपलब्धि है। फिल्म इंडस्ट्री में यह मेरा 41वां साल है। इसलिए मैं सारा श्रेय अपने साथियों, अपने परिवार और उन लोगों को देता हूं जिन्होंने इस खूबसूरत यात्रा के दौरान मेरा साथ दिया।’