तमिलनाडु में 3 मकान ढहने से 17 की मौत
   Date03-Dec-2019
 
qw7_1  H x W: 0
चेन्नई ठ्ठ 2 दिसम्बर (वा)
तमिलनाडु में कोयंबटूर के नादूर गांव में भारी बारिश के कारण सोमवार को तीन मकान धराशायी हो गए, जिसके कारण कम से कम 17 लोगों की मौत हो गई। पुलिस मुख्यालय के प्राप्त सूचना के अनुसार मृतकों में 10 महिलाएं तथा दो बच्चे शामिल हैं। बताया जा रहा है कि मृतकों में एक ही परिवार के चार सदस्य भी शामिल हैं। दुर्घटना की जानकारी मिलने पर पुलिस दमकल विभाग तथा राहत एवं बचावकर्मियों के साथ राजस्व विभाग के अधिकारी मौके पर पहुंच गए हैं। दुर्घटना सोमवार तड़के साढ़े पांच बजे घटी जिस समय पीडि़त अपने घरों में सो रहे थे।
शवों को मलबे से निकालकर पोस्टमार्टम के लिए मेट्टूपलायम के सरकारी अस्पताल में भेजा गया है। राजस्व विभाग के अधिकारियों ने बताया कि भारी बारिश के कारण इन मकानों से लगी चारदीवारी गिर जाने से यह हादसा हुआ। मुख्यमंत्री ई. पलानीस्वामी ने इस घटना पर शोक व्यक्त किया है और मृतकों के परिजनों को राज्य आपदा राहत कोष से चार-चार लाख रुपये की सहायता राशि देने की घोषणा की है। मृतकों की पहचान गुरु, रामनाथ, आनंद कुमार, हरिसुदा, शिवकामी, ओविआम्मल, नाथिया, वैदेही, तिलगवाती, अरुक्कनि, रूक्मणि, निवेदा, चिन्नम्मल, अक्षया तथा लोकुरम के तौर पर हुई है। पूर्व की ओर से चल रही हवाओं के कारण तमिलनाडु के विभिन्न इलाकों में भारी बारिश हुई है। राज्य के पर्वतीय जिले नीलगीरी, इरोड तथा प?ोसी दक्षिणी जिलों में भारी बारिश होने के कारण बा? की चेतावनी जारी की गयी है। नीलगिरी जिले के कुन्नूर में आज सुबह सा?े आठ बजे तक पिछले 24 घंटों के दौरान 133.8 मिलीमीटर बारिश हुई है, जबकि नामक्कल में 64 मिमी तथा उधगमंगलम में 56.2 मिमी बारिश दर्ज की गयी है। वहीं चेन्नई शहर तथा इसके उपनगरीय क्षेत्र नुनगमबक्कम में आज सुबह सा?े आठ बजे तक 4.7 सेंटीमीटर बारिश हुई है, जबकि मीनम्बक्कम में छह सेंटीमीटर बारिश दर्ज की गयी है। मौसम विभाग ने बताया कि अगले दो दिन तक भारी बारिश होने का अनुमान है। अरब सागर के दक्षिण-पश्चिमी क्षेत्र और समीपवर्ती भूमध्यरेखीय हिंद महासागर में हवा का कम दबाव बना हुआ है।