अल्संख्यकों के उत्थान के लिए मोदी सरकार ने खोला खजाना
   Date02-Dec-2019

जौनपुर ठ्ठ 1 दिसम्बर (वा)
राष्ट्रीय अल्प संख्यक आयोग के चेयरमैन गयुरुल हसन रिजवी ने कहा है कि अल्संख्यको के उत्थान के लिए मोदी सरकार गंभीर है और समुदाय के लिए करोड़ों रुपए की कई कल्याणकारी योजनाएं शुरू की हैं।
श्री रिजवी ने शनिवार देर शाम पीजी कॉलेज में 'साम्प्रदायिक एक पर आयोजित गोष्ठीÓ में शिरकत करने के बाद पत्रकारों से बातचीत में दावा किया कि मोदी सरकार ने अल्पसंख्यक समुदाय के लिए खजाना खोल दिया है। सरकार समाज के इस वर्ग को पढ़ाई, लिखाई, रोजगार और समाज के मुख्यधारा से जोडऩे के लिए पूरा प्रयास कर रही है। पिछली सरकारों में बैठे लोग केवल जुबानी उत्थान करने की बात करते थे, लेकिन जमीन पर कुछ नहीं होता था। उन्होंने कहा कि सरकार ने अपने कार्यकाल के दौरान समाज के अल्पसंख्यक समुदायों के लिए कई नई कल्याणकारी योजनाएं शुरू की हैं। 'नई मंजिलÓ औपचारिक स्कूल शिक्षा और स्कूल छोड़ चुके बच्चों के कौशल विकास की एक योजना है। अल्पसंख्यकों के विकास के लिए पारंपरिक कला व हस्तशिल्प में कौशल उन्नयन और प्रशिक्षण के लिए यूएसटीटीएडी योजना है। इस योजना के तहत वर्ष 2016-17 से पारंपरिक कला व हस्तशिल्प, रोजगार सृजन और बाजार से संपर्क साधने को बढ़ावा देने के लिए हुनर हाट का आयोजन किया जा रहा है। वर्ष 2017-18 तक हुनर हाट का सफलतापूर्वक आयोजन होता रहा है। वर्ष 2018-19 में 7 हुनर हाटों का आयोजन प्रस्तावित है। चेयरमैन ने कहा कि भारतीय संस्कृति के संदर्भ में अल्पसंख्यक समुदायों की समृद्ध विरासत के संरक्षण के लिए 'हमारी धरोहरÓ योजना चलाई जा रही है।