नवम्बर में जीएसटी संग्रह एक लाख करोड़ के पार
   Date02-Dec-2019

नई दिल्ली द्य 1 दिसंबर (वा)
वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) का संग्रह नवम्बर 2019 में तीन महीने के बाद फिर से एक लाख करोड़ रुपए के पार 103492 करोड़ रुपए पर पहुंच गया, जो नवम्बर 2018 में संग्रहित राजस्व से करीब छह प्रतिशत अधिक है।
इस वर्ष जुलाई में 102083 करोड़ रुपए का राजस्व संग्रह हुआ था। इसके बाद अगस्त से लेकर अक्टूबर तक इसमें गिरावट का रुख बना रहा। अगस्त में 98202 करोड़ रुपए, सितम्बर में 91916 करोड़ रुपए और अक्टूबर में 95380 करोड़ रुपए का राजस्व संग्रह हुआ था। अब नवम्बर में फिर से यह राशि एक लाख करोड़ रुपए को पार कर गई है। इस वर्ष अप्रैल, मई और जुलाई में यह राशि एक-एक लाख करोड़ रुपए से अधिक रही थी। जून में यह लगभग एक लाख करोड़ रुपए रहा था। वित्त मंत्रालय ने रविवार को बताया कि नवम्बर में संग्रहित जीएसटी में केंद्रीय जीएसटी संग्रह 19592 करोड़ रुपए, राज्य जीएसटी संग्रह 27144 करोड़ रुपए, एकीकृत जीएसटी संग्रह 49028 करोड़ रुपए और उपकर संग्रह 7727 करोड़ रुपए रहा। एकीकृत जीएसटी में 20948 करोड़ रुपए और उपकर में 869 करोड़ रुपए आयात से प्राप्त हुए हैं। अक्टूबर महीने के लिए 30 नवम्बर तक 77.83 लाख जीएसटीआर-3 बी फॉर्म भरे गए। सरकार ने एकीकृत जीएसटी से 25150 करोड़ रुपए केंद्रीय जीएसटी और 17431 करोड़ रुपए राज्य जीएसटी के खाते में हस्तांतरित किया है। नियमित आवंटन के बाद नवम्बर में केन्द्र सरकार का कुल जीएसटी राजस्व 44742 करोड़ रुपए और राज्यों की कुल राशि 44576 करोड़ रुपए रही है।