मंत्री प्रकाश जावड़ेकर बोले - वैश्विक कारणों से है अर्थव्यवस्था में सुस्ती
   Date01-Dec-2019

नई दिल्ली द्य 30 नवम्बर (वा)
सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने शनिवार को कहा कि सरकार ने अर्थव्यवस्था में सुधार को लेकर जो कदम उठाये हैं, उसके परिणाम दिख रहे हैं तथा जीडीपी के आंकड़ों में दिख रही गिरावट वैश्विक कारणों से है।
मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल के छह महीने पूरे होने के मौके पर श्री जावड़ेकर ने कहा कि इन छह महीनों में देश तरक्की की ओर तेजी से आगे बढ़ा है। तेजी से बुनियादी ढांचों के विकास का काम हुआ है और सरकारी निवेश बढ़ गया है। उन्होंने कहा- आर्थिक सुस्ती जो दुनियाभर में है, उसी का थोड़ा असर देश में भी दिख रहा है। लोगों के हाथों में पैसे का प्रवाह बढ़ा है। सरकार ने कई बड़े निर्णय लिए हैं- बैंकों का विलय करना हो या बैंकों को 70 हजार करोड़ रुपए देने की बात हो, ढाई लाख करोड़ रुपए का कर्ज उद्योगों को देने का विशेष कार्यक्रम हो या एनसीएलटी में लंबित बहुत सारे मुद्दे सुलझाने की बात हो या फिर सरकारी उपक्रमों में विनिवेश की बात हो।
केंद्रीय मंत्री ने कहा कि भारत सबसे कम कॉर्पोरेट कर वाला देश बन गया है, जिससे निवेशकों का विश्वास बढ़ा है। देश तरक्की के रास्ते पर बढ़ चला है। एक प्रश्न के उत्तर में उन्होंने कहा- सरकार के काम का परिणाम जमीन पर भी दिख रहा है। तेजी से बुनियादी ढांचों का विकास हो रहा है। श्री जावड़ेकर ने कहा कि सरकार के दूसरे कार्यकाल के पहले छह महीने में राफेल भारत में आया। सेना के लिए आधुनिक सामग्री की खरीद के फैसले लिए गए। सरकार ने जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 और अनुच्छेद 35 ए समाप्त किया, जिससे कश्मीर में पहली बार आतंकवाद कम हुआ है। उन्होंने कहा कि तीन तलाक की प्रथा को अवैध घोषित करने तथा इसके लिए सजा के प्रावधान वाला विधेयक भी संसद में पारित किया गया। अयोध्या का फैसला भी इसी बीच आया और देश में स्थिति शांतिपूर्ण रही।