भारत और जापान ने हिन्द प्रशांत क्षेत्र की स्थिति की समीक्षा की
   Date01-Dec-2019

नई दिल्ली द्य भारत और जापान के विदेश तथा रक्षा मंत्रियों के टू प्लस टू डॉयलाग की आज यहां उद्घाटन बैठक हुई। वहीं जापान के विदेश मंत्री टी. मोतेगी और रक्षा मंत्री तारो कोनो ने आज यहां प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से मुलाकात की और रणनीतिक, सुरक्षा और रक्षा सहयोग के द्विपक्षीय मुद्दों पर चर्चा की। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे के बीच पिछले वर्ष अक्टूबर में जापान में हुए 13वें भारत-जापान वार्षिक शिखरसम्मेलन में द्विपक्षीय सुरक्षा और रक्षा सहयोग को और प्रगाढ़ बनाने के लिए दोनों देशों के विदेश तथा रक्षा मंत्रियों के टू प्लस टू डॉयलाग को लेकर सहमति बनी थी। बैठक से पहले जापानी शिष्टमंडल ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से मुलाकात की। उद्घाटन बैठक में रक्षा मंत्री राजनाथसिंह और विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने भारतीय शिष्टमंडल का नेतृत्व किया, जबकि जापानी शिष्टमंडल का नेतृत्व वहां के विदेश मंत्री टी. मोटेगी और रक्षा मंत्री तारो कोनो ने किया। टू प्लस टू डॉयलाग का उद्देश्य दोनों देशों को विशेष सामरिक और वैश्विक साझेदारी को और मजबूत बनाने तथा रक्षा और सुरक्षा क्षेत्र में सहयोग को और मजबूत बनाने का मंच उपलब्ध कराता है। उद्घाटन बैठक में दोनों पक्षों ने हिन्द प्रशांत क्षेत्र की स्थिति की समीक्षा की। भारत की 'एक्ट ईस्ट पॉलिसीÓ और जापान की 'फ्री एंड ओपन इंडो पेसिफिक विजनÓ के तहत क्षेत्र में शांति बनाये रखने तथा दोनों देशों के लोगों के बेहतर भविष्य, प्रगति तथा समृद्धि के बारे में चर्चा की गई।