प्रहलाद लोधी बोले - सदस्यता समाप्त करना मेरी राजनीतिक हत्या का प्रयास
   Date09-Nov-2019

भोपाल द्य स्वदेश समाचार
स्पेशल कोर्ट ने जब मुझे सजा सुनाई थी, तो अपील के लिए 12 दिसम्बर तक का समय दिया था और मुझे जमानत भी दे दी थी। इसके बाद विधानसभा अध्यक्षजी को थोड़ा इंतजार करना था, सदस्यता समाप्त करने से पहले मुझे नोटिस देना था, ऐसा नहीं हुआ। मेरी विस की सदस्यता समाप्त करना मेरी राजनीतिक हत्या का प्रयास है। यह बात पवई से भाजपा के विधायक प्रहलाद लोधी ने शुक्रवार को प्रदेश भाजपा कार्यालय में मीडिया से बातचीत करते हुए कही।
बहाली हमारा अधिकार - श्री लोधी ने कहा कि विधानसभा के सदस्य के रूप में बहाली हाईकोर्ट के फैसले के बाद हमारा अधिकार है। इस मामले में जो भी करना होगा, वो प्रदेश नेतृत्व की राय पर और मार्गदर्शन पर ही करूंगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश अध्यक्ष श्री राकेशसिंह ने उनकी चर्चा हुई है। फिलहाल हाईकोर्ट का आदेश आने का इंतजार कर रहे हैं। इसके बाद न्यायालय के आदेश की कॉपी विधानसभा अध्यक्ष एवं निर्वाचन आयोग तक पहुंचाएंगे।
पहले भी बहाल हुई है सदस्यता - श्री लोधी ने कहा कि विधानसभा की सदस्यता बहाल होना कोई नई बात नहीं है। उनके पहले भी गुजरात में ऐसा हुआ है, मध्यप्रदेश में भी हुआ है। जब अन्य लोगों की सदस्यता बहाल हुई है, तो मेरी भी सदस्यता बहाल होगी। उन्होंने कहा कि माननीय उच्च न्यायालय ने अपने फैसले में स्टे देकर 7 जनवरी 2020 तक दंडादेश पर रोक लगाई है, लेकिन 7 जनवरी के बाद भी मुझे विश्वास है कि फैसला मेरे हक में ही होगा।
कांग्रेस ने दिया था प्रलोभन
श्री लोधी ने कहा कि विधानसभा अध्यक्ष के चुनाव के समय उन्हें कांग्रेस ने अपने पक्ष में लाने के लिए करोड़ों रुपए का प्रलोभन दिया था। चूंकि उस समय वे नए थे और ज्यादा अनुभव नहीं था, इसलिए कांग्रेस के पैंतरों को समझ नहीं पाए और उन्होंने प्रदेश नेतृत्व से भी इसकी चर्चा नहीं की थी।