पाकिस्तान इंटरनेट स्वायत्तता मामले में दुनिया के खराब देशों में शामिल
   Date07-Nov-2019

इस्लामाबाद द्य पाकिस्तान लगातार नौवें वर्ष इंटरनेट स्वायत्ता के मामले में दुनिया के खराब देशों में शुमार किया गया। फ्रीडम हाउस नामक संस्था ने यह जानकारी दी है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार पाकिस्तान 100 में से 26वें क्रमांक पर है और पिछले वर्ष के मुकाबले एक स्थान नीचे गिरा है। पाकिस्तान ने इंटरनेट के उपयोग में परेशानी के मामले में 25 में से पांच अंक हासिल किए हैं जबकि सीमित कंटेट के मामले में 35 में 14 अंक और उपभोक्ताओं के अधिकारों को तोडऩे के मामले में उसे 40 में सात अंक मिले। क्षेत्रीय रैंकिंग के पाकिस्तान इंटरनेट स्वायत्ता के मामले में सबसे खराब देशों की सूची मेें वियतनाम और चीन के बाद तीसरे स्थान पर है। फ्रीडम हाउस ने मंगलवार को फ्रीडम ऑन द नेट 2019 की द क्राइसिस ऑफ सोशल मीडिया नामक रिपोर्ट जारी की। रिपोर्ट में बताया गया है कि दुनियाभर की सरकारें देश में चुनाव में हेरफेर करने और नागरिकों की निगरानी करने के लिए सोशल मीडिया का इस्तेमाल करती हैं।
इंटरनेट स्वायत्ता के अलावा पाकिस्तान में सोशल मीडिया के जरिये चुनाव में हेरफेर किया जाता है। पाकिस्तान में कुल छह करोड़ 70 लाख इंटरनेट ब्रॉडबैंड कनेक्शन हैं और पिछले वर्ष की रिपोर्ट के बाद इनमें एक करोड़ का इजाफा हुआ है। रिपोर्ट में यह भी पाया गया है कि विरोध प्रदर्शन, चुनाव और धार्मिक तथा राष्ट्रीय छुट्टियों के दौरान सुरक्षा के मद्देनजर प्रशासन दूरसंचार सेवा को ठप कर देता है।