प्रधानमंत्री ने की प्रदूषण से उत्पन्न स्थिति की समीक्षा
   Date06-Nov-2019

नई दिल्ली द्य 5 नवम्बर (वा)
आसियान शिखर सम्मेलन से स्वदेश लौटने के बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पिछले लगभग एक सप्ताह से जहरीली हवा में सांस ले रही राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में प्रदूषण के कारण उत्पन्न स्थिति की समीक्षा की। राजधानी में पिछले कुछ दिनों की तुलना में आज वायु की गुणवत्ता में मामूली सुधार हुआ है, लेकिन अभी भी स्थिति गंभीर बनी हुई है।
आसियान शिखर सम्मेलन से मंगलवार सुबह वापस लौटे प्रधानमंत्री को सरकार की ओर से हालात तथा उससे निपटने के लिए उठाये जा रहे कदमों की विस्तार से जानकारी दी गई। प्रधानमंत्री कार्यालय ने ट्वीट कर कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने एक बैठक में राजधानी दिल्ली सहित उत्तर भारत के विभिन्न हिस्सों में प्रदूषण की स्थिति की समीक्षा की। उन्होंने देश के पश्चिमी हिस्से में चक्रवाती तूफान 'महाÓ के कारण उत्पन्न होने वाली स्थिति से निपटने की तैयारियों का भी जायजा लिया।
उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री की गैर मौजूदगी में प्रधानमंत्री के प्रधान सचिव पीके मिश्रा प्रदूषण से उत्पन्न हालात से निपटने के लिए पंजाब, हरियाणा और दिल्ली के साथ संपर्क बनाये हुए थे। पिछले दो दिनों में उन्होंने तीनों राज्यों के मुख्य सचिवों के साथ बैठक कर उन्हें युद्धस्तर पर कदम उठाने के लिए कहा था। उच्चतम न्यायालय ने भी प्रदूषण से उत्पन्न स्थिति को देखते हुए राज्यों के साथ साथ दिल्ली सरकार और केन्द्र को भी लापरवाह रवैये के लिए फटकार लगाई थी। न्यायालय ने कहा था कि लोगों को इस तरह से मरने के लिए नहीं छोड़ा जा सकता। इसके बाद से तीनों राज्यों और केन्द्र सरकार की ओर से प्रदूषण से निपटने के लिए अनेक कदम उठाये गए हैं। इनकी वजह से वायु की गुणवत्ता में मामूसी सुधार हुआ है, लेकिन स्थिति अभी भी नियंत्रण में नहीं है।