कांस्य पदक मुकाबले में हारे साजन
   Date04-Nov-2019

अंडर 23 विश्व
कुश्ती प्रतियोगिता
नयी दिल्ली ठ्ठ 03 नवंबर (वार्ता)
भारत के साजन भनवाल हंगरी के बुडापेस्ट में चल रही अंडर-23 विश्व कुश्ती प्रतियोगिता में ग्रीको रोमन के 77 किग्रा वर्ग में शनिवार को कांस्य पदक मुकाबले में हार गए जबकि रवि को 97 किग्रा के रेपेचेज में उतरने का मौका मिल गया है।
77 किग्रा वर्ग में विश्व जूनियर चैंपियनशिप में तीन पदक हासिल कर चुके साजन ने क्वालिफिकेशन में अमेरिका के जैसी एलेक्जेंडर पोर्टर को 6-0 से, प्री क्वार्टरफाइनल में अजरबैजान के तुन्जय वजीरजादे को 3-1 से और क्वार्टर फाइनल में स्वीडन के पेर एल्बिन ओलोफसन को 6-2 से हराकर सेमीफाइनल में जगह बनाई जहां उन्हें जापान के कोदई सकुराबा से नजदीकी संघर्ष में 4-5 से हार का सामना करना पड़ा। साजन को फिर कांस्य पदक मुकाबले में तुर्की के सेरकान अकोयुन ने एकतरफा अंदाज में 10-1 से हरा दिया। 55 किग्रा में अर्जुन हलाकुरकी को क्वार्टर फाइनल में रूस के एमिन सेफरशायेव से जबरदस्त संघर्ष में 12-14 से हार का सामना करना पड़ा। सेफरशायेव फाइनल में पहुंच गए जिससे अर्जुन को रेपेचेज में उतरने का मौका मिला लेकिन वह अर्मेनिया के नोरायर हखोयान से 2-10 से हार गए। 63 किग्रा में रजीत को प्री क्वार्टर फाइनल में ही अर्मेनिया के स्लाइक गल्स्त्यान से 0-8 से हार का सामना करना
पड़ा। गल्स्त्यान के क्वार्टरफाइनल में हार जाने से रजीत की चुनौती भी समाप्त हो गयी। 87 किग्रा में सुनील कुमार प्री क्वार्टर फाइनल में वह यूक्रेन के सेमेन नोविकोव से 0-8 से हार गए। नोविकोव फाइनल में पहुंच गए लेकिन सुनील रेपेचेज में क्रोएशिया के इवान हुकलेक से 3-6 से हार गए। 130 किग्रा में दीपक पुनिया को क्वालिफिकेशन में अमेरिका के डेविड ओर्नडोफऱ् से 1-6 से हार का सामना करना पड़ा। अमेरिकी पहलवान के प्री क्वार्टर फाइनल में हारने के साथ ही दीपक बाहर हो गए। 60 किग्रा में सचिन राणा को क्वालिफिकेशन में चीन के लिगाओ काओ से 2-5 से , 67 किग्रा में रविंदर को तुर्की के हासी कराकस से प्री क्वार्टरफाइनल में 1-2 से, 72 किग्रा में राहुल को क्वालिफिकेशन में रूस के मैगोमेद यारबिलोव से क्वालिफिकेशन में 0-8 से, 82 किग्रा में नीरज को क्वालिफिकेशन में सर्बिया के ब्रांको कोवसेविच से 1-10 से हार का सामना करना पड़ा। 97 किग्रा में रवि को जार्जिया के जियोर्जी मेलिया से प्री क्वार्टरफाइनल में 0-8 से हार का सामना करना पड़ा। लेकिन मेलिया के फाइनल में पहुंचने से रवि को रेपेचेज में उतरने का मौका मिल गया है। रवि का अगला मुकाबला कजाखिस्तान के उजूर जूजूबेकोव से होगा।