एशियाई तीरंदाज़ी में मिश्रित कम्पाउंड टीम को स्वर्ण
   Date28-Nov-2019

नयी दिल्ली ठ्ठ 27 नवंबर (वार्ता)
अभिषेक वर्मा और ज्योति सुरेखा वेनाम की मिश्रित कम्पाउंड टीम ने बैंकाक के राजमंगला स्टेडियम में चल रही एशियाई तीरंदाज़ी चैंपियनशिप में बुधवार को स्वर्ण पदक अपने नाम कर लिया।
भारत ने 2019 एशियाई तीरंदाज़ी चैंपियनशिप में एक स्वर्ण, दो रजत और चार कांस्य अपने नाम किये। भारतीय तीरंदाज़ी टीम ने मिश्रित कम्पाउंड टीम स्पर्धा के फाइनल में चीनी ताइपे के यू सुआन और चीह लुन चेन की जोड़ी को 158-151 से हराकर स्वर्ण पर कब्जा किया। इस जीत के साथ अभिषेक ने मिश्रित टीम कम्पाउंड में अपना दूसरा स्वर्ण जीत लिया जबकि ज्योति के लिये यह इस वर्ग का पहला खिताब है। अभिषेक और ज्योति ने फाइनल में शुरूआत से ही दबदबा बनाये रखा और आखिरी दो पड़ाव में 39-37 तथा 40-38 की बढ़त बनाई। उन्होंने चीनी ताइपे की जोड़ी पर कुल चार अंकों की मज़बूत बढ़त से अपने स्वर्ण से अपनी जीत का रास्ता बनाया। भारतीय जोड़ी ने तीसरे पड़ाव में अपनी बढ़त को छह अंक पहुंचा दिया और अपने आखिरी दो प्रयासों से स्वर्ण जीता। अभिषेक-ज्योति ने 10-10 का शॉट लगाया और आखिरी में 40-39 के स्कोर के साथ स्वर्ण जीता। इससे पहले महिला कम्पाउंड टीम में ज्योति, मुस्कान किरार और प्रिया गुर्जरकी तिकड़ी ने दक्षिण कोरियाई टीम से फाइनल में 215-231 से हारने के बाद रजत अपने नाम किया। भारतीय तिकड़ी शुरूआती दो पड़ाव में ही सात अंक से पिछड़ गयी और फिर वापसी नहीं कर सकी। कोरियाई महिलाओं ने अपनी बढ़त को लगातार बरकरार रखते हुये अंतत: 16 अंकों की भारी भरकम बढ़त के साथ स्वर्ण जीत लिया।
अभिषेक, रजत चौहान और मोहन भारद्वाज की पुरूष कम्पाउंड टीम पोडियम पर बेहद करीब से पहला स्थान हासिल नहीं कर सकी। दक्षिण कोरियाई पुरूष टीम ने भारतीय टीम को 233-232 से फाइनल में हराया और उसे रजत से संतोष करना पड़ा। भारतीय पुरूष टीमों ने पहले पड़ाव में 58-58 से स्कोर बराबर किया लेकिन कोरियाई टीम ने फिर 59-58 और 59-57 के स्कोर के साथ तीन अंक की बढ़त बना ली। भारतीय टीम ने फाइनल में वापसी कर स्कोर 59 कर लिया लेकिन कोरियाई टीम ने 57 के शॉट के साथ स्वर्ण सुनिश्चित किया।