महापौर के अप्रत्यक्ष चुनाव पर राजभवन की ना, टंडन को मनाने की कवायद
   Date07-Oct-2019

भोपाल द्य स्वदेश समचार
मध्यप्रदेश में महापौर के सीधे चुनाव को बंद करने को लेकर राजभवन ने मंजूरी से फिलहाल इंकार कर दिया है। मुख्यमंत्री कमल नाथ के प्रमुख सचिव अशोक वर्णवाल राज्यपाल लालजी टंडन से मिलने पहुंचे, तो राज्यपाल ने भारी नाराजगी जताकर प्रमुख सचिव वर्णवाल को वापस लौटा दिया। इसके बाद राज्यपाल ने महापौर चुनाव की गेंद फिलहाल वापस सरकार के पाले में भेज दी है। राज्यपाल ने काउंसिल ऑफ मेयर की आपत्तियों को अपनी चि_ी के साथ संलग्न करके सरकार को भेज दिया है। अब सरकार वापस इस चि_ी पर जवाब देगी। राज्यपाल को मनाने के राज्य सरकार के प्रयास फिलहाल विफल होते दिख रहे हैं। पहले नगरीय प्रशासन मंत्री जयवर्धन सिंह और नगरीय प्रशासन विभाग के प्रमुख सचिव संजय दुबे राज्यपाल से मिलने पहुंचे। दोनों ने राज्यपाल से महापौर के सीधे चुनाव बंद करने के प्रस्ताव को लेकर अपने तर्क रखे। राज्यपाल ने जयवर्धन को आश्वासन दिया कि इस मामले में सकारात्मक तरीके से विचार करेंगे। देर शाम प्रमुख सचिव अशोक वर्णवाल भी राजभवन पहुंचे । अशोक वर्णवाल ने राज्यपाल से महापौर के सीधे चुनाव बंद करने की फाइल को लेकर सरकार का तर्क रखा, तो राज्यपाल ने नाराजगी जताई। सूत्रों के मुताबिक राज्यपाल ने कहा कि इतनी जल्दी क्या है। पहले आपत्ति का निराकरण तो हो जाए। इसके बाद वर्णवाल को चुपचाप वापस लौटना पड़ा। वर्णवाल ने पूरी रिपोर्ट मुख्यमंत्री को भी दे दी है। हालांकि राज्यपाल ने चुनाव में पार्षद के गलत जानकारी देने पर कार्रवाई के एक अन्य प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है।