रोहित की रिकार्डतोड़ पारी से भारत ने दिया दक्षिण अफ्रीका को 395 रन का मुश्किल लक्ष्य
   Date06-Oct-2019

विशाखापत्तनम ठ्ठ 05 अक्टूबर (वार्ता)
हिटमैन नाम से मशहूर रोहित शर्मा ने टेस्ट ओपनिंग में उतरने के साथ ही अपना कमाल का प्रदर्शन जारी रखते हुए दूसरी पारी में 127 रन ठोककर नया विश्व रिकॉर्ड बना डाला। रोहित ने पहली पारी में 176 रन बनाये थे। रोहित के इस अद्भुत डबल से भारत ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पहले टेस्ट के चौथे दिन शनिवार को अपनी दूसरी पारी चार विकेट पर 323 रन पर घोषित कर मेहमान टीम के सामने 395 रन का बेहद मुश्किल लक्ष्य रख दिया।
रोहित ने 149 गेंदों पर 127 रन की पारी में 10 चौके और सात छक्के लगाए। रोहित का यह पांचवां शतक है। उन्होंने चेतेश्वर पुजारा (81) के साथ दूसरे विकेट के लिए 169 रन की जबरदस्त साझेदारी की। पुजारा ने 148 गेंदों की अपनी पारी में 13 चौके और दो छक्के लगाए। पहली पारी में दोहरा शतक बनाने वाले मयंक अग्रवाल दूसरी पारी में सात रन बनाकर आउट हुए। रवींद्र जडेजा ने तेजी से 40 रन बनाये जबकि कप्तान विराट कोहली ने नाबाद 31 और अजिंक्या रहाणे ने नाबाद 27 रन बनाये। मुश्किल लक्ष्य का पीछा करते हुए दक्षिण अफ्रीका ने स्टंप्स तक एक विकेट खोकर 11 रन बना लिए हैं और उसे अभी जीत के लिए 384 रन की जरूरत है। एडन मारक्रम तीन और थ्यूनिस दी ब्रून पांच रन बनाकर क्रीज पर हैं। पहली पारी में 160 रन बनाने वाले डीन एल्गर दूसरी पारी में दो रन बनाकर लेफ्ट आर्म स्पिनर रवींद्र जडेजा की गेंद पर पगबाधा हो गए।
मैच का चौथा दिन रहे रोहित के नाम
रोहित ने पहली बार टेस्ट ओपनिंग करते हुए रिकॉर्ड बुक को कई बार ध्वस्त किया और नया विश्व रिकॉर्ड बना दिया। रोहित टेस्ट क्रिकेट में सलामी बल्लेबाज के रूप में अपने पहले टेस्ट में दोनों पारियों में शतक लगाने वाले पहले बल्लेबाज बन गए हैं। टेस्ट क्रिकेट के 142 साल के इतिहास में रोहित यह कारनामा करने वाले इकलौते बल्लेबाज हैं। रोहित इस तरह लगातार सात पारियों में 50 से ज्यादा रन बनाने वाले भारत के पहले बल्लेबाज बन गए हैं। रोहित बतौर ओपनर पहले टेस्ट मैच में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी बन गए हैं। रोहित ने इस मामले में दक्षिण अफ्रीका के केप्लर वेसेल्स को पीछे छोड़ दिया है। केप्लर ने पहले टेस्ट मैच में बतौर ओपनर 208 रन बनाए थे जबकि रोहित ने 303 रन बना दिए हैं। हिटमैन रोहित एक टेस्ट की दोनों पारियों में शतक लगाने वाले छठे भारतीय बल्लेबाज बन गए हैं। 41 साल बाद किसी भारतीय सलामी बल्लेबाज ने टेस्ट में दोनों पारियों में शतक लगाए हैं। रोहित से पहले सुनील गावस्कर ने 1978 में पाकिस्तान के लिए खिलाफ टेस्ट मैच में दोनों पारियों में शतक लगाए थे। रोहित इस मैच में 13 छक्के उड़ाकर एक टेस्ट में सर्वाधिक छक्के उड़ाने वाले भारतीय बल्लेबाज बन चुके हैं। उन्होंने नवजोत सिंह सिद्धू के रिकॉर्ड को तोड़ा है। रोहित को लेफ्ट आर्म स्पिनर केशव महाराज ने पहली पारी की तरह विकेटकीपर क्विंटन डी कॉक के हाथों स्टंप कराया। दिलचस्प बात है कि इस टेस्ट से पहले रोहित कभी स्टंप नहीं हुए थे और अब दोनों पारियों में इसी तरह से पवेलियन लौटे।
ओपनिंग की दोनों पारियों में शतक
बतौर ओपनर पहले मैच की दोनों पारियों में शतक लगाने वाले रोहित दुनिया के पहले खिलाड़ी बन गए हैं। अभी तक सिर्फ एक ही खिलाड़ी ऐसा था, जिसने पहले टेस्ट मैच में बतौर ओपनर शतक और अर्धशतक जड़ा था, लेकिन रोहित ने दोनों पारियों में शतक जड़कर इस रिकॉर्ड को ध्वस्त कर दिया है। वेस्ट इंडीज गॉर्डन ग्रीनिज ने अपने पहले मैच में बतौर ओपनर अर्धशतकीय और शतकीय (93 और 107) पारी खेली थी।