हाईटेक तेजस को योगी ने किया रवाना
   Date05-Oct-2019

लखनऊ द्य 4 अक्टूबर
अत्याधुनिक तकनीक से लैस देश की पहली कॉर्पोरेट यात्री ट्रेन तेजस एक्सप्रेस को रफ्तार भरते देखने की गवाह नवाब नगरी बनी, जब उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लखनऊ जंक्शन रेलवे स्टेशन पर शुक्रवार को हरी झंडी दिखाकर ट्रेन को नई दिल्ली के लिए रवाना किया।
इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉर्पोरेशन द्वारा संचालित ट्रेन कानपुर और गाजियाबाद के रास्ते नई दिल्ली पहुंचेगी। ट्रेन का नियमित संचालन 6 अक्टूबर से होगा।
श्री योगी ने सुबह नौ बजे ट्रेन को नई दिल्ली के लिए रवाना करने से पहले दीप प्रज्जवलित कर कार्यक्रम की शुरुआत की। उन्होंने ट्रेन का निरीक्षण करने के साथ पहले सफर के साक्षी खुशकिस्मत यात्रियों से बात भी की। पहले दिन के सफर में ट्रेन में 400 यात्री सवार थे। उन्होंने कहा कि शारदीय नवरात्र में देश की पहली निजी ट्रेन की शुरुआत हो रही है। इसके लिए वह प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को बधाई देते है। आज श्री मोदी का वह सपना साकार हो रहा है जिसमें उन्होंने कहा था कि देश में हवाई चप्पल पहनने वाला भी प्लेन में चलेगा। प्लेन सी सुविधाओं वाली ट्रेन का सफर सस्ता और सुरक्षित है। यह ट्रेन सिर्फ लखनऊ से दिल्ली तक ही सीमित नहीं होनी चाहिए बल्कि आगरा, वाराणसी समेत अन्य जगहों से भी चलनी चाहिए।फूलों से सजी धजी ट्रेन में सवार होने के लिए यात्रियों में बेसब्री दिखाई दी हालांकि इससे पहले उन्हें कड़ी सुरक्षा जांच से गुजरना पड़ा। ट्रेन को नौ बजकर 45 मिनट पर हरी झंडी दिखाने से पहले आयोजित कार्यक्रम में रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष विनोद यादव के अलावा नगर विकास मंत्री आशुतोष टंडन, महिला कल्याण मंत्री स्वाति सिंह, जल शक्ति मंत्री महेंद्र सिंह भी मौजूद थे। इस अवसर पर विधिवत पूजा अर्चना कर दीप प्रज्जवलित किया गया और शंखनाद किया गया। इस मौके पर कई यात्री ट्रेन में सेल्फी लेते नजर आए वहीं रवानगी से पहले काली और पीली ड्रेस पहने स्टाफ ट्रेन के आगे सेल्फी ली। प्लेटफार्म पर करंट टिकट का काउंटर भी लगाया गया था जिसमें यात्रियों को टिकट उपलब्ध कराया गया।
ट्रेन की बोगी के दोनो ओर सेंसर युक्त स्लाइडिंग दरवाजे है जो करीब पहुंचने पर खुद ही खुल जाएंगे। इसके अलावा बटन से खिड़की के पर्दे खोले और बंद किये जा सकेंगे। बोगी में सेंसर से युक्त डस्टबिन पास जाते ही खुल जायेगी। सुरक्षा के लिहाज से हर बोगी में सुरक्षाकर्मी के अलावा संदिग्ध गतिविधियों पर निगाह रखने के लिये छह सीसीटीवी कैमरे लगाये गये हैं।
आपात स्थिति में ट्रेन को रोकने के लिये चेन की जगह हैंडल लगाये गये हैं। ट्रेन यात्रियों को उनके गंतव्य स्टेशन पर पहुंचने की सूचना विजुअल और एनाउंस सिस्टम से दी जायेगी। अत्याधुनिक तकनीक से लैस ट्रेन की हर बोगी में एंटी ब्रेकिंग सिस्टम लगा है जिससे ट्रेन के पहिए जाम नहीं होंगे। शौचालयों में पानी के स्तर की सूचना इंडीकेटर से मिलेगी।